बड़ी खबरें

उत्तर प्रदेश के 18 बड़े शहरों में शुरू होंगे स्ट्रीट फूड हब-साप्ताहिक हाट, 15 लाख दुकानदारों को फायदा 17 घंटे पहले चमक उठेंगे यूपी के हाइवे, 40 हजार करोड़ से बनेंगी दो हजार नई सड़कें, गांवों पर फोकस 17 घंटे पहले उत्तर प्रदेश में दो साल में प्राकृतिक खेती से जुड़ेंगे 50 हजार किसान, सभी जिलों में शुरू होगी किसान रजिस्ट्री 17 घंटे पहले रेलवे में 7951 पदों पर भर्ती का नोटिफिकेशन जारी, 30 जुलाई से शुरू होंगे आवेदन, 44 हजार से ज्यादा मिलेगी सैलरी 17 घंटे पहले CDAC में प्रोजेक्ट इंजीनियर सहित 135 पदों पर निकली भर्ती, एज लिमिट 50 साल, सैलरी 14 लाख तक 17 घंटे पहले ITBP ने कॉन्स्टेबल के पदों पर निकाली भर्ती, 10वीं पास को मौका, 69 हजार से ज्यादा मिलेगा वेतन 17 घंटे पहले काठमांडू के त्रिभुवन अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर क्रैश हुआ विमान, प्लेन में सवार 19 में से 18 की मौत 17 घंटे पहले 'बजट में विपक्ष शासित राज्यों के साथ हुआ भेदभाव', INDIA ब्लॉक के सांसदों का विरोध प्रदर्शन 17 घंटे पहले

हर तरफ पौधे ही पौधे, इतने कि रिकॉर्ड बन जाए, यूपी में लगाए जाएगें एक ही दिन में 36 करोड़ से ज्यादा पौधे

Blog Image

उत्तर प्रदेश सरकार ने 'पेड़ लगाओ-पेड़ बचाओ जन अभियान-2024' की समीक्षा की, जिसके तहत एक ही दिन में 36.46 करोड़ पौधे लगाए जाएंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस महत्वपूर्ण अभियान की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की और अधिकारियों को निर्देश दिए कि इस महा अभियान को सफल बनाने के लिए सभी आवश्यक तैयारियों को सुनिश्चित किया जाए।

20 जुलाई तक पूरा करना है टारगेट-

सीएम योगी ने कहा- इस लक्ष्य को हर हाल में 20 जुलाई को पूरा करना है। प्रदेशभर में पौधरोपण महाअभियान के लिए विभागवार और जिलावार लक्ष्य निर्धारित करते हुए काम किया जाए। बैठक में उन्होंने प्रदेश सरकार के मंत्रियों व विभिन्न विभागाध्यक्षों को दिशा-निर्देश भी दिए।

पिछले 6 साल में लगाए गए इतने करोड़ पौधे-

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश पर प्रकृति व परमात्मा की असीम कृपा है। यहां पौधारोपण अभियान अब जनांदोलन का स्वरूप ले चुका है। पिछले 6 साल में यहां 168 करोड़ से अधिक पौधे लगाए जा चुके हैं।

  • 2017-18 में 5.72 करोड़
  • 2018-19 में 11.77 करोड़
  • 2019-20 में 22.60 करोड़
  • 2020-21 में 25.87 करोड़
  • 2021-22 में 30.53 करोड़
  • 2022-23 में 35.49 करोड़ 
  • 2023-24 में 36.16 करोड़

स्वच्छ वातावरण का होगा निर्माण-

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश सरकार का यह प्रयास पर्यावरण संरक्षण और हरित आवरण को बढ़ाने की दिशा में एक ऐतिहासिक कदम है। इस विशाल पौधारोपण अभियान से न केवल प्रदेश का वातावरण स्वच्छ और सुंदर बनेगा, बल्कि आने वाली पीढ़ियों के लिए एक बेहतर और स्वस्थ पर्यावरण का निर्माण भी होगा।

क्या है इस अभियान का उद्देश्य?

पौधारोपण का यह विशाल कार्यक्रम पर्यावरण संरक्षण और हरित आवरण बढ़ाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। इसके माध्यम से न केवल वायु प्रदूषण को कम करने का प्रयास किया जाएगा, बल्कि प्रदेश के ग्रामीण और शहरी इलाकों में हरियाली को भी बढ़ावा मिलेगा।

किस प्रकार है की तैयारी?

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस अभियान में हर विभाग, संस्थान और आम जनता की भागीदारी सुनिश्चित की जाए। इस योजना के तहत पौधे लगाने के लिए जिलास्तर पर व्यापक तैयारियां की जा रही हैं। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पौधों की सुरक्षा और उनकी देखभाल पर भी विशेष ध्यान दिया जाएगा ताकि अधिक से अधिक पौधे जीवित रह सकें और फल-फूल सकें।

क्या होनी चाहिए जनता की भागीदारी?

अभियान में किसानों, स्वयंसेवी संगठनों, छात्रों और विभिन्न सामाजिक संस्थाओं की भी महत्वपूर्ण भूमिका होगी। मुख्यमंत्री ने सभी नागरिकों से अपील की है कि वे इस महाअभियान में बढ़-चढ़कर हिस्सा लें और पर्यावरण संरक्षण की दिशा में अपना योगदान दें।

क्या होंगे संभावित परिणाम?

36.46 करोड़ पौधों का एक ही दिन में रोपण एक नया विश्व रिकॉर्ड स्थापित कर सकता है, जिससे न केवल उत्तर प्रदेश का नाम रोशन होगा, बल्कि पर्यावरणीय संकट से निपटने में भी यह एक महत्वपूर्ण कदम साबित होगा। सरकार को उम्मीद है कि इस अभियान से प्रदेश की हरियाली में वृद्धि होगी और वातावरण को स्वच्छ बनाने में मदद मिलेगी।

अन्य ख़बरें

संबंधित खबरें