बड़ी खबरें

लोकतंत्र के उत्सव में मतदाताओं ने दिखाया उत्साह, पहले चरण में 68.29 फीसदी हुआ मतदान 17 घंटे पहले राममंदिर में आज से फिर शुरू हो जाएंगे वीआईपी दर्शन, विशिष्ट और आरती पास की सुविधा भी हुई बहाल 17 घंटे पहले कुर्की को लेकर इलाहाबाद हाई कोर्ट ने दिया नया फैसला, कहा- 'गैंगस्टर एक्ट में कुर्क नहीं कर सकते कमाई से अर्जित संपत्ति' 17 घंटे पहले यूपी में तीसरे चरण के लिए 182 प्रत्याशियों ने किया नामांकन, तीसरे चरण के चुनाव के लिए 7 मई को होंगे मतदान 17 घंटे पहले इकाना में चेन्नई के खिलाफ लखनऊ ने बनाए कई बड़े रिकॉर्ड्स, राहुल ने महेंद्र सिंह धोनी को बतौर विकेट कीपर सबसे ज्यादा अर्धशतक जड़ने के मामले में छोड़ा पीछे 17 घंटे पहले बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन की तारीख में हुआ बदलाव, अब 30 अप्रैल तक कर सकतें हैं आवेदन 17 घंटे पहले यूपी बोर्ड का 10वीं और 12वीं का रिजल्ट हुआ जारी, लड़कियां रहीं अव्वल 14 घंटे पहले 'कांग्रेस ने डिजिटल भुगतान का उड़ाया मजाक', बेंगलुरु में इंडी गठबंधन पर जमकर बरसे PM Modi 9 घंटे पहले कोटा में गरजे शाह, बोले- राहुल बाबा कान खोलकर सुन लो, चाहोगे तो भी आरक्षण हटाने नहीं देंगे 9 घंटे पहले

अब राशन की दुकानों पर जेनेरिक दवाओं के साथ ही मिलेंगी कई सुविधाएं...

Blog Image

(Special Story) उत्तर प्रदेश की जनता के लिए खुशखबरी है... बहुत जल्द ही उनको राशन की दुकानों पर ही कई सारी अन्य सुविधाएं भी मिलने लगेंगी। इसकी जानकारी सीएम योगी ने खुद दी। सीएम योगी ने आज लोकभवन में खाद्य रसद विभाग और ग्राम्य विकास विभाग द्वारा आयोजित कार्यक्रम में 1100 अन्नपूर्णा भवनों और 79 हजार उचित दर की दुकानों पर ई-वेइंग स्केल लिंक्ड ई-पॉस मशीनों का लोकार्पण किया। लेकिन क्या आप जानते हैं कि देश की पहली अन्नपूर्णा दुकान कहां खुली थी। चलिए हम बताते हैं...

सीएम ने सौंपी अन्नपूर्णा भवन की चाबी-

इस मौके पर सीएम योगी ने प्रदेश के 10  उचित दर विक्रेताओं को अन्नपूर्णा भवन की प्रतीकात्मक चाबी सौंपी। इसमें लखनऊ से जगलाल, रायबरेली के अशोक कुमार और धीरेन्द्र विक्रम, बाराबंकी की रेखा देवी और पुष्पा देवी, उन्नाव के लोकई प्रसाद और मालती देवी, हरदोई से अंजनी कुमार और जितेन्द्र, सीतापुर मोहम्मद नियाज खान को अन्नपूर्णा भवन की प्रतीकात्मक चाबी सौंपी गई। वहीं इस अवसर पर सीएम ने लाभार्थियों को राशन किट भी प्रदान किया।  

राशन वितरण क्षेत्र में हुए व्यापक रिफॉर्म-

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सीएम योगी ने कहा कि जनप्रतिनिधियों के सतत प्रयास से हर गरीब को खाद्यान उपलब्ध कराने में हम सफल हुए हैं। 2014 से पहले जरूरतमंदों को राशन नहीं मिल पाता था। उनके नाम पर राशन कार्ड तो होता था, मगर राशन कोई और ही डकार जाता था। यहां तक कि 2017 से पहले प्रदेश के कई जनपदों में भूख से भी मौतें होती थीं। मगर, हमने पहले ई पॉश मशीन और अब ई वेइंग मशीन जैसी तकनीक का इस्तेमाल शुरू किया है। इससे राशन वितरण के क्षेत्र में व्यापक रिफॉर्म हुए हैं। खाद्य एवं रसद विभाग की ओर से प्रदेश के लगभग 80 हजार राशन कोटे की दुकानों में हुए इस रिफॉर्म का लाभ 15 करोड़ लाभार्थियों के मिल रहा 
है।  

टेक्नोलॉजी से जनता को मिलेंगी और भी सुविधाएं-

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार बहुत शीघ्र कुछ और बहुत बड़े कदम उठाने जा रही है। हर राशन कार्ड के आधार सीडिंग का कार्य चल रहा है। हर व्यक्ति की फैमिली आईडी तैयार हो रही है, जिससे एक जगह बैठे-बैठे तय हो जाएगा कि किसे कौन सी सुविधा मिली है या कौन सी सुविधा देनी है। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि बहुत जल्द उत्तर प्रदेश की जनता को अपने राजस्व के कागजातों को देखने के लिए तहसील के चक्कर नहीं लगाने होंगे, एक जगह से ही उन्हें अपने सभी दस्तावेज प्राप्त हो जाएंगे।

अन्नपूर्णा भवनों से मिलेंगी जेनरिक दवाएं-

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राशन कोटे के लिए अन्नपूर्णा भवन स्थाई भवन हो गए हैं। अब कोटेदार के बदलने पर भी राशन की दुकानें नहीं बदलेंगी। राशन के साथ ही अन्नपूर्णा भवनों से अन्य सुविधाएं भी मिलेंगी। यहां से सस्ती जेनरिक दवाएं और घर की अन्य आवश्यक वस्तुओं की भी पूर्ति की जाएगी। यहां राशन के लिए गोदाम भी रहेगा। इसके अलावा यहीं पर कॉमन सर्विस सेंटर भी होगा, जहां से जन्म, मृत्यु, आय, जाति प्रमाणपत्र जैसी सुविधाएं भी मिलेंगी। आज 11 सौ दुकानों से इसकी शुरुआत हो रही है, शीघ्र ही प्रदेश के 80 हजार राशन कोटे की दुकानों के लिए ये व्यवस्था की जाएगी।

कहां शुरू हुई थी देश की पहली अन्नपूर्णा दुकान-

देश की पहली अन्नपूर्णा दुकान का शुभारंभ उत्तर प्रदेश के बरेली से हुआ था। बरेली के भरतौल में देश की पहली अन्नपूर्णा दुकान बनकर तैयार हुई थी। जिसकी शुरूआत 13 जुलाई से हुई थी। अन्नपूर्णा दुकान का शुभारंभ मंडलायुक्त सौम्या अग्रवाल के साथ जनप्रतिनिधियों की उपस्थित किया गया था। मंडलायुक्त सौम्या अग्रवाल ने राशन की दुकानों में आसानी से खाद्यान्न पहुंचाने और उपभोक्ताओं की सुविधा बढ़ाने के लिए मई में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के समक्ष मॉडल पेश किया था। मुख्यमंत्री ने योजना को सराहते हुए इसे देशभर में लागू कराने की बात कही थी।

यूपी के सभी 75 जिलों में बन रही हैं अन्नपूर्णा दुकानें- 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर प्रथम चरण चरण में  यूपी के सभी 75 जिलों में अन्नपूर्णा दुकानों के निर्माण का कार्य जारी है। प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में मनरेगा योजना के अंतर्गत राशन मॉडल शॉप अन्नपूर्णा भवन का निर्माण किया जा रहा है। प्रदेश के सभी जिलों में राशन की 75 दुकानों को मॉडल शॉप (उचित दर दुकान एवं जन सुविधा केंद्र) के रूप में तब्दील किये जाने का कार्य प्रगति पर है। राशन की मॉडल शॉप को विकसित करने का कार्य किया जा रहा है। इन दुकानों को ग्राम पंचायतों में मनरेगा के तहत सरकारी जमीन पर बनाया जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों में यह भवन मनरेगा योजना के अंतर्गत बनाए जा रहे हैं। इस भवन को पूर्ति विभाग के मानकों के आधार पर तैयार किया जा रहा है। इसमें एक हॉल, एक प्रतीक्षालय के साथ साथ जनसेवा केंद्र संचालन की भी व्यवस्था की जा रही है।

अन्नपूर्णा दुकान में मिलेंगी ये सुविधाएं-

  • इन अन्नपूर्णा मॉडल शाप में करीब 40 प्रकार के जनरल स्टोर के रोजमर्रा के सामन मिलेंगे।
  • पांच किलोग्राम वाले एलपीजी सिलिंडर
  • ई-स्टांप, अग्निशमन यंत्र मिलेंगे।
  • माइक्रो एटीएम की व्यवस्था होगी
  • बीसी सखी आदि की सेवाएं भी मिलेंगी।
  • कार्डधारकों को एक स्थान पर कई तरह की सुविधा देने की तैयारी है।
  • सभी केंद्रों का निर्माण श्रम एवं रोजगार मनरेगा की ओर कराया जा रहा है।
  • अन्नपूर्णा भवनों से जेनरिक दवाएं भी मिलेंगी
  • अब कोटेदार के बदलने पर भी राशन की दुकानें नहीं बदलेंगी।
  • अब लखनऊ से ही बैठकर मॉनीटरिंग होगी कि राशन वास्तव में कोटे की दुकान तक पहुंच रहा है कि नहीं।
  • अन्नपूर्णा भवनों से कोटे का राशन भी मिलेगा, जन्म-मृत्यु, आय, जाति प्रमाणपत्र भी बनाए जाएंगे।

 

अन्य ख़बरें

संबंधित खबरें