बड़ी खबरें

सरकार ने बुजुर्ग मतदाताओं के लिए पोस्टल बैलट से वोटिंग करने वाले चुनावी नियम में किया बदलाव, अब केवल 85 साल से ज्यादा उम्र के बुजुर्ग मतदाता ही पोस्टल बैलट से कर सकेंगे वोटिंग 4 घंटे पहले आचार संहिता लागू होने से पहले डमरू चौक और महादेव सेतु के लोकार्पण कराने की तैयारी तेज, बरेली कॉलेज मैदान में सात मार्च को सीएम योगी आदित्यनाथ का कार्यक्रम प्रस्तावित 4 घंटे पहले चुनाव आयोग की अफसरों को हिदायत, कहा - कहीं भी पुनर्मतदान और हिंसा की नौबत आई तो बख्शा नहीं जाएगा 4 घंटे पहले पांच करोड़ आयुष्मान कार्ड बनाने वाला पहला राज्य बना यूपी, 34.81 लाख लोग उठा चुके लाभ 4 घंटे पहले बड़े पैमाने पर यूपी में रोजगार देगा डेयरी सेक्टर, करीब 9 हजार करोड़ रुपये का निवेश करने की तैयारी 4 घंटे पहले UP में पुलिस परीक्षा पेपर लीक का आरोपी मुजफ्फरनगर का मिंटू बलियान गिरफ्तार, कांस्टेबल भर्ती परीक्षा से संबंधित नौ एडमिट कार्ड बरामद 4 घंटे पहले यूपी के कानपुर में वृद्धावस्था पेंशन के 10 हजार लाभार्थियों का डाटा पोर्टल से हुआ गायब, डाटा रिकवर कराने की कोशिश जारी 4 घंटे पहले UPSSSC ने जूनियर मेडिकल एनालिस्ट के 361 पदों पर निकाली भर्ती, 18 अप्रैल से कर सकतें हैं आवेदन 4 घंटे पहले बिहार में हेड टीचर और मास्टर भर्ती के लिए नोटिफिकेशन जारी, 11 मार्च से करे सकेंगे आवेदन 4 घंटे पहले UPSSSC ने सहायक लेखाकार और लेखा परीक्षक के 1828 पदों पर निकाली भर्ती, 11 मार्च है आवेदन की आखिरी तारीख 4 घंटे पहले महान स्वाधीनता सेनानी, उत्तर प्रदेश की प्रथम राज्यपाल, 'भारत कोकिला' सरोजिनी नायडू की पुण्यतिथि पर सीएम योगी ने दी विनम्र श्रद्धांजलि 3 घंटे पहले

श्रीकृष्ण जन्मस्थान के मंदिरों का बदला समय, श्रद्धालु इस समय करेंगे दर्शन

Blog Image

उत्तर प्रदेश के मथुरा में स्थित श्रीकृष्ण जन्मस्थान मंदिरों के समय में बढ़ती ठंड के चलते परिवर्तन किया गया है। जिससे दूर-दूर से आने वाले श्रद्धालु उचित समय में भगवान कृष्ण के दर्शन कर पाएं। साथ ही भगवान कृष्ण को ठंड से बचाने के लिए कई इंतजाम भी किए। पहले श्रद्धालु सुबह 6.30 बजे से रात नौ बजे तक दर्शन करते थे। लेकिन अब श्रद्धालु श्रीगभर्गृह मंदिर के दर्शन सुबह 6.30 बजे से रात 8.30 बजे तक कर सकेंगे।  साथ ही भागवत भवन और अन्य मंदिर के दर्शन सुबह 6.30 बजे से शुरु होकर दोपहर एक बजे तक होंगे। फिर शाम को दोपहर तीन बजे से रात 8.30 बजे तक होंगे। इससे पहले यह दर्शन शाम चार बजे से रात नौ बजे तक होते थे।

कान्हा को सर्दी से बचाने के हुए इंतजाम-

आपको बता दे कि ब्रजभूमि में भगवान कृष्ण के प्रति प्रेम और भक्ति का अनोखा अंदाज देखने को मिलता है। यहां भगवान को एक बालक के रूप में देखा जाता है और उनका पालन-पोषण किया जाता है। जैसे एक मां अपने बच्चे को सर्दी से बचाने के लिए उसे गर्म कपड़े पहनाती है, ठीक उसी तरह ब्रजभूमि के सेवायत भी भगवान कृष्ण को सर्दी से बचाने के लिए कई तरह के उपाय करते हैं। सोमवार को बारिश होने के बाद सेवायत भी भगवान कृष्ण को सर्दी से बचाने में जुट गए। उन्होंने भगवान कृष्ण को सुहाग सोंठ का भोग लगाया। सुहाग सोंठ एक गर्म पदार्थ है जो सर्दी से बचाव में मदद करता है। इसके अलावा, सेवायत ने भगवान कृष्ण को गर्म कपड़े भी पहनाएं। 

प्रभु के प्रसादों की बदली गई सूची-

वहीं दानाघाटी मंदिर के सेवक विष्णु शर्मा ने बताया कि बढ़ती ठंड से गिरिराज बीमार न पड़ जाएं, इसके लिए शयन के समय मखमली रजाई का प्रयोग किया जा रहा है। भगवान का सर्दी से बचाव करने को भक्त तमाम प्रयास कर रहे है। सुबह लगने वाली ठंड से बचाव को प्रभु की सेवा में देसी नुस्खा सुहाग-सोंठ का सेवन कराया जा रहा है। सुहाग-सोंठ में गरम मसालों का प्रयोग किया जाता है। इस दौरान मुकुट मुखारविंद मंदिर रिसीवर कपिल चतुर्वेदी ने बताया कि मंगला आरती के समय प्रभु को सुहाग-सोंठ का भोग लगाया जाता है। मंगला के बाद मेवा युक्त गरेम खिचड़ी बाल भोग में शामिल की जाती है। प्रभु के प्रसाद में आने वाले पदार्थों की सूची बदल दी गई है। प्रभु के अभिषेक में केसर युक्त दूध रबड़ी का प्रयोग किया जा रहा है।

 

 

अन्य ख़बरें

संबंधित खबरें