बड़ी खबरें

भर्तृहरि महताब बने प्रोटेम स्पीकर, राष्ट्रपति ने दिलाई शपथ 21 घंटे पहले नीट विवाद में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज, दोषियों पर मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत कार्रवाई की मांग 21 घंटे पहले लखनऊ में UPSRTC मुख्यालय के बाहर मृतक आश्रितों का नौकरी की मांग पर धरना, 'नियुक्ति दो या जहर दे दो' का लिखा स्लोगन 21 घंटे पहले लखनऊ में 33 विभूतियों समेत 66 मेधावी सम्मानित, क्षत्रिय लोक सेवक परिवार ने हल्दीघाटी मनाया विजयोत्सव 21 घंटे पहले वर्ल्ड चैंपियन इंग्लैंड ने टी-20 वर्ल्ड कप में सबसे पहले सेमीफाइनल में बनाई जगह, अमेरिका को एकतरफा मुकाबले में 10 विकेट से हराया 21 घंटे पहले संजय गांधी पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट (SGPGI) लखनऊ में 419 वैकेंसी, 25 जून 2024 है लास्ट डेट, 40 वर्ष तक के उम्मीदवारों को मिलेगा मौका 21 घंटे पहले हरियाणा लोक सेवा आयोग (HPSC) ने मेडिकल ऑफिसर के 805 पदों पर निकाली भर्ती, 12 जुलाई 2024 है आवेदन करने की लास्ट डेट 21 घंटे पहले CBSE ने रीजनल डायरेक्टर सहित अन्य पदों पर निकाली भर्ती, एज लिमिट 56 वर्ष, सैलरी 65 हजार से ज्यादा 21 घंटे पहले मोदी ने सांसद पद की ली शपथ, 18वीं लोकसभा का पहला संसद सत्र शुरू 20 घंटे पहले सुप्रीम कोर्ट का केजरीवाल को तत्काल राहत देने से इनकार, 26 जून को होगी अगली सुनवाई 18 घंटे पहले

अगर आप चारधाम की यात्रा का बना रहे हैं प्लान, तो रखें इन बातों का ध्यान

Blog Image

चार धाम की यात्रा शुरू होते ही भक्तों का सैलाब उमड़ पड़ा है और उनमें काफी उत्साह भी देखने को मिला लेकिन श्रद्धालुओं की अत्यधिक संख्या हो जाने के कारण उन्हें खासी दिक्कतों का सामना भी करना पड़ रहा है। कहीं लोग जाम में फंसे हुए हैं, तो कहीं लोग यात्रा के दौरान लंबी-लंबी लाइन में लगे हुए हैं। यहां आने वाले लोगों की संख्या इस कदर बढ़ चुकी है कि हर कोई अब घर की ओर लौटना पसंद कर रहा है। कई लोग तो आधे रास्ते से ही वापस जा रहे हैं। ऐसे में चारधाम यात्रा को व्यवस्थित करने के उद्देश्य से दो दिन के लिए तीर्थयात्रियों का रजिस्ट्रेशन रोक दिया गया है। बढ़ती भीड़ को मद्देनजर रखते हुए प्रशासन ने ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन 15 और 16 मई के लिए बंद कर दिए गए हैं जो हरिद्वार और ऋषिकेश में हो रहे थे। यदि आप भी चारधाम की यात्रा जा रहे हैं, तो इन बातों का ध्यान जरूर रखें। 

यात्रियों के लिए नहीं है होटलों में जगह-

चारधाम यात्रा में श्रद्धालुओं के सैलाब से प्रशासन भी है। ऋषिकेश में सभी होटल बुक हैं और यात्रियों को रात गुजारने के लिए जगह नहीं मिल पा रही है। प्रशासन ने ऋषिकेश में रुके तीर्थयात्रियों के लिए ट्रांजिट कैंप में हैंगर और टेंट के अलावा धर्मशालाओं, स्कूलों और वेडिंग पॉइंट में रुकने का इंतजाम किया है। यहां श्रद्धालुओं के लिए खाने की व्यवस्था की जा रही है।

जरूर कराएं चेकअप-

बढ़ती भीड़ के कारण कई लोगों ने यात्रा को स्थगित भी कर दिया है। यहां भीड़ के कारण दम घुटने से लोगों की मौत भी हो चुकी है। यदि आप चारधाम की यात्रा पर जाने का मन बना रहे हैं तो, कुछ समय बाद अपनी यात्रा को प्लान कर सकते हैं और भीड़ को देखने के बाद ही रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। अपना अच्छे से चेकअप भी जरूर करा लें। क्योंकि वहां खड़ी चढ़ाई है, गर्मी है, बदलते मौसम हैं, ऐसे तापमान में शरीर पर काफी असर पड़ता है। ऐसे में यात्रा को टालना ही समझदारी भरा कदम होगा। 

6 दिनों में आये तीन लाख से भी ज्यादा श्रद्धालु

उत्तराखण्ड में 10 मई को अक्षय तृतीया के दिन से चारधाम यात्रा की शुरुआत हुई थी। यमुनोत्री, गंगोत्री और केदारनाथ धाम के कपाट अक्षय तृतीय के शुभ अवसर पर खोले गए थे। श्रद्धालुओं में चारधाम यात्रा को लेकर गजब का उत्साह देखने को मिला। इसीलिए श्रद्धालुओं की संख्या 3 लाख के पार पहुंच चुकी है। चारधाम यात्रा के लिए देश के कोने-कोने के साथ ही विदेश से भी श्रद्धालु पहुंच रहे हैं। सबसे ज्यादा श्रद्धालुओं की संख्या केदारनाथ धाम में रिकॉर्ड की जा रही है।उत्तराखंड चारधाम यात्रा को लेकर उत्तराखंड पर्यटन विभाग की तरफ से जारी किए गए आंकड़े इस प्रकार हैं-

  • केदारनाथ धाम-

केदारनाथ धाम में बड़ी तादाद में श्रद्धालु पहुंच रहे हैं। आज 15 मई को केदारनाथ धाम में 29 हजार 278 श्रद्धालुओं ने दर्शन किए। जिसमें से 19 हजार 76 पुरुष, 9 हजार 712 महिलाएं और 489 बच्चे शामिल हैं। 10 मई से अभी तक 1 लाख 55 हजार 584 श्रद्धालु बाबा केदार के दर्शन कर चुके हैं। 

  • बदरीनाथ धाम-

बदरीनाथ के कपाट 12 मई को सुबह 6 बजे श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ हेतु खोले गए। भगवान बदरी-विशाल के दर्शन के लिए भी भक्तों की भारी भीड़ धाम पहुंच रही है। 15 मई बुधवार को 6 हजार 3 सौ 33 श्रद्धालुओं ने दर्शन किए। जिसमें पुरुष 4 हजार 27, महिला 1 हजार 916 और बच्चे 390 हैं। अभी तक कुल 45 हजार 637 श्रद्धालु भगवान बदरी विशाल के दर्शन कर चुके हैं।

  • गंगोत्री धाम-

गंगोत्री धाम में 15 मई बुधवार को 14 हजार 700 श्रद्धालुओं ने दर्शन किए। जिसमें से 7 हजार 980 पुरुष और 6 हजार 508 महिलाएं और 212 बच्चे हैं। गंगोत्री में अभी तक 6 हजार 3,078 श्रद्धालुओं ने दर्शन कर लिए हैं।

  • यमुनोत्री धाम-

उत्तराखंड के यमुनोत्री धाम में 15 मई बुधवार को 11,275 श्रद्धालुओं ने मां यमुना के दर्शन किए। जिसमें से 5 हजार 510 पुरुष, 5 हजार 520 महिलाएं और 245 बच्चे भी शामिल हैं। 10 मई से अभी तक मां यमुना के दर्शन 70 हजार 433 श्रद्धालु कर चुके हैं। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, 15 मई बुधवार को 61 हजार 586 श्रद्धालुओं ने चारों धामों के दर्शन किए। 10 मई से शुरू हुई चारधाम यात्रा में अभी तक 3 लाख 34 हजार 732 श्रद्धालु दर्शन के लिए पहुंच चुके। 

अन्य ख़बरें